करैरा के बेटे वैभव ने बनाया फिंगरप्रिंट विश्लेषण यंत्र, मिला पेटेंट

करैरा के बेटे वैभव ने बनाया फिंगरप्रिंट विश्लेषण यंत्र, मिला पेटेंट

करैरा | करैरा के बेटे वैभव मिश्रा पुत्र स्व. जयेंद्र कुमार मिश्रा ने अपनी टीम के साथ मिलकर फिंगरप्रिंट विश्लेषण के क्षेत्र में एक और कदम आगे बढ़ाया है। उनकी टीम ने एक ऐसा यंत्र तैयार किया है जो फिंगरप्रिंट विश्लेषण के क्षेत्र में एक नया कदम बताया जा रहा है। खास बात यह है कि भारत सरकार के पेटेंट कार्यालय ने ‘फिंगरप्रिंट एनालायसिस इंस्ट्रूमेंट फार फारेंसिक परपज’ नाम इस उपकरण को पेटेंट प्रदान कर दिया है, जो फिंगर प्रिंट पहचान की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम आगे बढ़ाएगा। वैभव मिश्रा ने डा.
टीना शर्मा के नेतृत्व में अपनी टीम के साथ मिलकर भारतीय पेटेंट ऑफिस से एक उत्कृष्ट डिज़ाइन हासिल किया है। उनकी टीम में डा. टीना शर्मा, डा. मुकेश कुमार ठक्कर, महिपाल सिंह सांखला, अर्चना गौतम, अनुज शर्मा, दीपक कुमार महीदा, डा. सत्यभान
पाणिग्राही शामिल हैं। वैभव वर्तमान में चंडीगढ़ विश्वविद्यालय मोहाली पंजाब के फारेंसिक विभाग में सहायक प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

शिवपुरी से चुनाव कौन जीतेगा?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

Bureau Report