गणतंत्र दिवस पर आकर्षण का केंद्र होगा वायुसेना का फ्लाईपास्ट

फ्लाईपास्ट के लिए करीब 46 विमान 6 अलग-अलग बेस से ऑपरेट किए जाएंगे…

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस पर हवा में वायुसेना के विमान करतब दिखाते हुए नजर आएंगे। फ्लाईपास्ट में 29 लड़ाकू विमान, 7 परिवहन विमान, 9 हेलीकॉप्टर समेत कुल 46 एयर क्राफ्ट हिस्सा लेंगे। कर्तव्य पथ के आसमान पर तेजस, राफेल, डॉर्नियर समेत वायुसेना के तमाम अत्याधुनिक उड़ान भरने की तैयारी में हैं। जानकारी के मुताबिक ये सभी विमान छह अलग-अलग बेस से संचालित होंगे।

स्क्वाड्रन लीडर रश्मि ठाकुर 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड में यहां कर्तव्य पथ पर वायु सेना की टुकड़ी की अगुवाई करेंगी । अधिकारियों ने बताया कि भारतीय वायुसेना की 15 महिला पायलट भी हवाई फ्लाई पास्ट के दौरान विभिन्न प्लेटफार्म की कमान संभालेंगी। उन्होंने कहा कि वायु सेना की मार्चिंग टुकड़ी की अगुवाई ठाकुर करेंगी। उनके साथ स्क्वाड्रन लीडर सुमिता यादव, स्क्वाड्रन लीडर प्रतीति अहलूवालिया और फ्लाइट लेफ्टिनेंट कीर्ति रोहिल मौजूद रहेंगी। स्क्वाड्रन लीडर ठाकुर ‘फाइटर कंट्रोलर’ हैं। भारतीय वायुसेना की मार्चिंग टुकड़ी के अलावा, अग्निवीर वायु (महिला) की त्रि-सेवा टुकड़ी भी परेड में भाग लेगी। अधिकारियों ने बताया कि कुल 48 अग्निवीर वायु महिलाएं इस दल का हिस्सा होंगी। फ्लाइट लेफ्टिनेंट सृष्टि वर्मा त्रि-सेवा टुकड़ी की अतिरिक्त अधिकारी के रूप में मार्च करेंगी। भारतीय वायुसेना की गणतंत्र दिवस की झांकी का विषय ‘भारतीय वायु सेना: सक्षम, सशक्त, आत्मनिर्भर’ है। फ्लाइट लेफ्टिनेंट अनन्या शर्मा और फ्लाइंग ऑफिसर अस्मा शेख, झांकी में मौजूद रहेंगी। दोनों ही एसयू-30 पायलट हैं।

राष्ट्रीय राजधानी के हवाई क्षेत्र में 11 दिन तक पाबंदी

गणतंत्र दिवस की तैयारियों और समारोह के मद्देनजर 19 जनवरी से पाबंदी लागू है। यह पाबंदी 29 जनवरी तक लागू रहेगी। लेकिन इसका असर नियमित उड़ानों पर नहीं पड़ेगा। उन्होंने बताया कि विशेष विमानों को 19 जनवरी से 25 जनवरी के बीच पूर्वाह्न 10 बजे से अपराह्न एक बजकर 15 मिनट तक यहां से उड़ान भरने या उतरने की अनुमति नहीं दी जाएगी। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) द्वारा जारी ‘नोटम’ के मुताबिक यह पाबंदी 26 से 29 जनवरी के बीच सुबह छह बजे से रात नौ बजे तक लागू रहेगी। आमतौर पर ‘नोटम’ (नोटिस टू एयरमेन) नोटिस होता है जिसमें विमान परिचालन से जुड़े कर्मचारियों को आवश्यक सूचना दी जाती है।

75वें गणतंत्र दिवस की परेड महिला केंद्रित

75वां गणतंत्र दिवस समारोह काफी हद तक ‘‘महिला केंद्रित’’ होगा जिसका मुख्य विषय ‘भारत का लोकतंत्र और एक विकसित राष्ट्र बनने का संकल्प’ है। रक्षा सचिव गिरिधर अरमाने ने शुक्रवार को कहा कि पहली बार परेड की शुरुआत भारतीय संगीत वाद्ययंत्रों के साथ 100 महिला कलाकारों द्वारा की जाएगी। उन्होंने कहा कि परेड में पहली बार तीनों सेनाओं से सिर्फ महिलाओं की टुकड़ी भी मार्ग पर मार्च करते हुए दिखाई देंगी और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल की टुकड़ियों में भी महिला कर्मी शामिल होंगी।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

शिवपुरी से चुनाव कौन जीतेगा?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

Bureau Report