मैं सपरिवार अयोध्या जाना चाहता हूं : अरविंद केजरीवाल

-दिल्ली सरकार मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना के तहत श्रद्धालुओं को अयोध्या भेजेगी

नई दिल्ली । ‎दिल्ली के सीएम अर‎विंद केजरीवाल ने कहा है ‎कि मैं स‎पिरवार आयोध्या जाना चाहता हूं, ले‎किन 22 जनवरी को प्राण-प्र‎तिष्ठा होने के बाद ‎किसी भी ‎दिन अपने प‎रिवार संग यात्रा कर सकता हूं। बता दें ‎कि अयोध्या में बनाए जा रहे भव्य राम मंदिर में 22 जनवरी को भगवान रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होने जा रही हैं। बुधवार को दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा, मैं सपरिवार अयोध्या जाना चाहता हूं। उन्‍होंने कहा, 22 जनवरी को श्रीराम की प्राण प्रतिष्ठा होने के बाद दिल्ली सरकार मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना के तहत ज्यादा से ज्यादा लोगों को दिल्ली से ट्रेन में अयोध्या भेजने का प्रयास करेगी। लोगों में अयोध्या जाकर रामलला के दर्शन करने को लेकर बहुत उत्साह है। इसलिए हमारी कोशिश रहेगी कि अयोध्या के लिए ज्यादा ट्रेनें भेजी जाएं। केजरीवाल ने बुधवार को द्वारकाधीश के लिए तीर्थयात्रियों को रवाना करते समय यह जानकारी दी। दिल्ली सरकार का कहना है कि उनकी तीर्थयात्रा योजना के तहत यह 87वीं ट्रेन गुजरात की द्वारकाधीश पीठ जा रही है। इससे पहले 86 ट्रेनों से करीब 82 हजार लोग विभिन्न तीर्थस्थलों जा चुके हैं।
सीएम केजरीवाल ने कहा ‎कि लगभग हर हफ्ते दिल्ली से किसी न किसी तीर्थस्थल पर लगभग एक हजार तीर्थयात्रियों को लेकर ट्रेन जाती है। रामेश्‍वरम्, पुरी, शिरडी, द्वारकाधीश समेत 12-13 तीर्थ स्थलों के लिए ट्रेन जाती है। केजरीवाल ने कहा ‎कि मेरी पूरी कोशिश रहती है कि अगर मैं दिल्ली में हूं और समय निकाल पाता हूं तो मैं सभी तीर्थयात्रियों को उनकी सफल यात्रा की शुभकामना देने के लिए मिलने जरूर आता हूं। आज भी मैं सभी तीर्थयात्रियों से मिलने आया हूं। द्वारकाधीश की यह यात्रा सात दिन की होगी। बुधवार की शाम को करीब 7 बजे दिल्ली से तीर्थयात्रियों को लेकर ट्रेन रवाना हुई। यह ट्रेन शुक्रवार को सुबह 9 बजे ट्रेन द्वारकाधीश पहुंचेगी।

सीएम केजरीवाल ने कहा, तीर्थयात्रा पर हर बार 70-80 फीसद माताएं जाती हैं। इसका एक कारण यह है कि पुरुष तो काम के सिलसिले में कहीं न कहीं घूम आते हैं, लेकिन, महिलाओं को समय नहीं मिलता है और उनको कोई लेकर जाने वाला भी नहीं मिलता है। ज्यादातर महिलाएं अपने पति और बच्चों पर निर्भर होती हैं। ऐसे में दिल्ली सरकार की मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना ने महिलाओं को तीर्थ यात्रा पर जाने एक मौका दिया है। तीर्थयात्रा में 70-80 फीसदी महिलाएं जा रही हैं तो हमें यह देखकर बहुत अच्छा लगता है कि हम अपनी माताओं को जगह-जगह से भगवान के दर्शन कराकर सुर‎क्षित उनके घर पहुंचा रहे रहे हैं।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

शिवपुरी से चुनाव कौन जीतेगा?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

Bureau Report