Mp, UP, बिहार समेत 7 राज्यों में बारिश, मप्र के कई जिलों में हुई बारिश से बढ़ी ठंड

16 से अधिक शहरों में नहीं निकल रही धूप, ग्वालियर में कश्मीर जैसी ठंड

ठंड से कांपा उत्तर भारत

-छत्तीसगढ़ में के कोरिया और उससे लगे जिलों में बूंदाबांदी के आसार; 2 दिनों तक बदला रहेगा मौसम

नई दिल्ली/भोपाल/रायपुर । देश में कई राज्य इस वक्त कड़ाके की ठंड की चपेट में है। राजधानी दिल्ली, बिहार, यूपी-मप्र में शीतलहर चल रही है, तो हरियाणा और पंजाब में सुबह और रात के समय घने कोहरे का प्रकोप देखने को मिल रहा है। इसी बीच आईएमडी ने बताया कि पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में न्यूनतम तापमान 6-8 डिग्री सेल्सियस के बीच रिकॉर्ड किया जा रहा है। कंपकपाने वाली ठंड के बीच 7 राज्यों में जोरदार बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

मप्र में लगातार ठंड का प्रकोप बना हुआ है। मप्र में देश के कई राज्यों से अधिक ठंड इस वक्त पड़ रही है। लगातार कई शहर कोहरे की चादर में लिपटे हुए दिख रहे हैं। मौसम विभाग से मिले डाटा के अनुसार मप्र के 16 से अधिक शहरों में बीते 24 घंटे से धूप ही नहीं निकली है। प्रदेश में सबसे अधिक ठंडा शहर इस वक्त ग्वालियर है जहां पर लोग कश्मीर जैसी ठंड महसूस कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ के सरगुजा संभाग के कोरिया और उससे लगे जिलों में बूंदाबांदी के साथ हल्की बारिश हो सकती है। जो 5 और 6 जनवरी को भी जारी रह सकता है। पूर्वी और दक्षिण पूर्वी हवा के मिलने से अगले तीन दिनों तक प्रदेश का मौसम बदला रहेगा। वहीं अगले 24 घंटे में न्यूनतम तापमान 3 डिग्री तक बढ़ सकता है। उसके बाद टेंपरेचर में कोई बदलाव की संभावना नहीं है।

मप्र के 21 शहरों में घना कोहरा

हाड़ कंपा देने वाली सर्दी ने पूरे मप्र को परेशान कर रखा है। ग्वालियर, भोपाल, उज्जैन सहित 21 शहरों में मध्यम से घना कोहरा छाया हुआ है। मप्र में इस समय वेस्टर्न डिस्टरबेंस की वजह से ऐसा मौसम लगातार बना हुआ है। ग्वालियर, नौगांव, गुना, रतलाम, सागर, खजुराहो सहित 6 शहरों में अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से कम बना हुआ है। ग्वालियर में अधिकतम तापमान 14.5 डिग्री सेल्सियस तो उज्जैन में 22 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। भोपाल में अधिकतम तापमान 23.9 डिग्री सेल्सियस तो वहीं इंदौर में 25.2 डिग्री और जबलपुर में 27.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। इस प्रकार मध्यप्रदेश के अलग-अलग शहरों में इस समय ठंड का कहर गिर रहा है। तेज ठंड पडऩे के साथ बेहद सर्दीली हवाएं भी चल रही हैं, जिसकी वजह से ठंड का प्रकोप बढ़ गया है।

शीतलहर का सितम जारी

राष्ट्रीय राजधानी और उसके आसपास के इलाकों नए साल की शुरुआत से शीतलहर का सितम जारी है। दिल्ली के अलावा पड़ोसी राज्यों पंजाब, उत्तरी राजस्थान, हरियाणा से लेकर उत्तराखंड, बिहार और पश्चिम बंगाल के हिमालयी इलाकें घने कोहरे की चादर में लिपटे हुए हैं। देश का तकरीबन आधा हिस्सा शीतलहर की चपेट में है। कोहरे के कारण दिल्ली से 26 ट्रेनें देरी से चल रही हैं। घने कोहरे के बीच कम दृश्यता के कारण कई विमानों ने देरी से उड़ान भरी है। मौसम विभाग के मुताबिक राजधानी में आने वाले कुछ दिनों में ठंड का कहर बढ़ सकता है।

इन राज्यों में बढ़ेगी ठंड, स्कूल बंद

पहाड़ी राज्य जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के अधिकतर इलाकों में पहले से ही न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे चल रहा पारा और आने वाले दिनों में और भी नीचे गिर सकता है। पंजाब और हरियाणा के कई इलाकों में भी पारा शून्य से 10 डिग्री नीचे चला गया है। दिल्ली और एनसीआर के गौतम बुद्ध नगर जिला प्रशासन ने ठंड के मद्देनजर छह जनवरी तक नर्सरी से आठवीं तक की कक्षाओं के सभी स्कूलों में अवकाश की घोषणा की है। उन्होंने बताया कि इस आदेश का पालन नहीं करने वाले स्कूल संचालकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

इन राज्यों में बारिश के आसार

आईएमडी के मुताबिक भारत के दक्षिणी राज्य तमिलनाडु, केरल और लक्षद्वीप में अगले तीन से चार दिनों तक बारिश होगी। लक्षद्वीप, केरल और तमिलनाडु में चार और सात जनवरी, तक भारी बारिश होगी। वहीं, बात मध्य प्रदेश की करें तो यहां चार और पांच जनवरी, उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में चार से छह जनवरी यानी कि तीन दिनों तक हल्की बारिश का अलर्ट है।

बच्चों और बुजुर्गों के लिए बढ़ गई परेशानी

तेज ठंड की वजह से छोटे बच्चे और बुजुर्गों के लिए परेशानी बढ़ गई है। उनको बेहद तकलीफ का सामना करना पड़ रहा है। बच्चें और बुजुर्ग सर्दी-जुकाम से ज्यादा परेशान हैं और डॉक्टरों के पास सर्दी-जुकाम के साथ ही ठंड लगने की बीमारी वाले मरीजों की संख्या में इजाफा हो गया है।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

शिवपुरी से चुनाव कौन जीतेगा?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

Bureau Report