पांच साल में कांग्रेस प्रत्याशी के पी सिंह की 51 करोड़ आय बढ़ी शिवपुरी से कांग्रेस प्रत्याशी ने भरा नामांकन फार्म, मेंडेड भी मिला

पांच साल में कांग्रेस प्रत्याशी के पी सिंह की 51 करोड़ आय बढ़ी

शिवपुरी से कांग्रेस प्रत्याशी ने भरा नामांकन फार्म, मेंडेड भी मिला

शिवपुरी….के पी सिंह ने शिवपुरी सीट पर अपना नामांकन भर दिया है । हालांकि कई दिनों से इस बात की चर्चा जोरों पर थी कि शिवपुरी का टिकिट बदल सकता है । क्योंकि के पी सिंह ने ही एक सभा में कहा था कि अभी भरोसा नहीं है मैं चुनाव लडूंगा या नहीं लेकिन प्रत्याशी बदलने की अटकलों पर बुधवार को उस समय विराम लग गया, जब कांग्रेस प्रत्याशी केपी सिंह ने अपना नामांकन फार्म भर दिया। बिना किसी पूर्व घोषणा के केपी आज सुबह शिवपुरी एसडीएम ऑफिस में फार्म भरने पहुंचे। फार्म भरने के दौरान लगभग दो घंटे तक वो रिटर्निंग ऑफिसर के पास बैठे रहे। कांग्रेस प्रत्याशी ने जो हलफनामा पेश किया, उसमें वो 1 अरब से अधिक की चल-अचल संपत्ति के मालिक हैं, तथा पिछले पिछले पांच साल में उनकी आय में 51 करोड़ रुपए की अधिक बढ़ोत्तरी हुई है।
बुधवार की सुबह लगभग 10.30 बजे कांग्रेस प्रत्याशी केपी सिंह अपने वाहन से अकेले ही एसडीएम शिवपुरी के ऑफिस पहुंचे, जबकि प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष श्रीप्रकाश शर्मा एवं फार्म भरवाने के लिए एडवोकेट भरत ओझा पहले से वहां मौजूद थे। कुछ देर बाद जिनेश जैन भी वहां आ गए। बिना कोई जुलूस व ढोल-नगाड़ें के सादगीपूर्ण तरीके से नामांकन भरने गए कांग्रेस प्रत्याशी की सूचना मिलने पर मीडिया भी वहां पहुंच गई। लगभग दो घंटे इंतजार के बाद केपी सिंह एसडीएम ऑफिस से बाहर आए तथा मीडिया से हाथ जोडक़र बोले कि मैं 30 अक्टूबर के बाद बात करूंगा।

केपी सिंह का फार्म भरवाने वाले एडवोकेट भरत ओझा का कहना है कि फार्म भरते समय चार सेट जमा हुए हैं, तथा रिटर्निंग ऑफिसर के समक्ष साइन होने के बाद पूरे दस्तावेजों की चार कॉपियां फोटोस्टेट करवानी पड़ी। एक ही सेट में 50 पेपर हैं, तो 200 कॉपी होने में समय लग गया था।

शिवपुरी विधानसभा ने कांग्रेस पार्टी ने केपी सिंह को अपना प्रत्याशी घोषित करने के साथ ही मेंडेड भी बुधवार को दे दिया। आज नामांकन फार्म भरने के साथ ही केपी सिंह ने कांग्रेस का मेंडेड भी निर्वाचन कार्यालय में दिया है। अब चूंकि पार्टी का मेंडेड भी आ गया है, इसलिए टिकट बदलने की सभी अटकलों पर अब विराम लग गया।

30 सालों से कांग्रेस विधायक इस बार भाजपा के गढ़ में सेंध लगाने की तैयारी

शिवपुरी से कांग्रेस प्रत्याशी केपी सिंह पिछले 6 बार से लगातार विधायक बनने की वजह से पिछोर विधानसभा कांग्रेस का गढ़ बन गई थी। वहीं इसके उलट शिवपुरी विधानसभा भाजपा का गढ़ बनी हुई थी। केपी सिंह ने कांग्रेस का गढ़ छोडक़र भाजपा के गढ़ में सेंधमारी करने की तैयारी कर ली है। हालांकि अभी तक केपी सिंह ने यह नहीं बताया कि पिछोर छोडक़र शिवपुरी से चुनाव लडऩे का निर्णय उनका है या फिर पार्टी ने उन्हें भेजा है।

अब वीरेंद्र भी समझ चुके है कि टिकिट नहीं मिलने वाला ।

कांग्रेस की एक और सूची बुधवार को जारी हो गई, जिसमें शिवपुरी का नाम नहीं है। अपने टिकट के लिए दिल्ली और फिर भोपाल में कई दिनों तक डेरा डालने वाले वीरेंद्र रघुवंशी ने अब शांति पकड़ ली। क्योंकि उन्हें भी समझ आ गया कि पार्टी के नेता उन्हें सिर्फ आश्वासन की घुट्टी पिला रहे हैं। अब वीरेंद्र भी मान चुके है कि टिकिट नहीं मिलने वाला है लेकिन के पी सिंह के साथ ऐसा क्या कारण है कि वे मीडिया से दूरी बनाएं हुए है ।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

शिवपुरी से चुनाव कौन जीतेगा?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

Bureau Report