जनआशीर्वाद यात्रा के बाद बदले कोलारस के समीकरण, देवेंद्र जैन और रिझारी ने दिखाया दम,सुरेंद्र शर्मा की गोटी हो सकती है सेट महेंद्र की राह का अपने ही साबित हो रहे हैं रोड़ा, सभी दावे दारों से हो सकती है रायशुमारी

जनआशीर्वाद यात्रा के बाद बदले कोलारस के समीकरण, देवेंद्र जैन और रिझारी ने दिखाया दम,सुरेंद्र शर्मा की गोटी हो सकती है सेट
महेंद्र की राह का अपने ही साबित हो रहे हैं रोड़ा, सभी दावे दारों से हो सकती है रायशुमारी

भूपेंद्र शर्मा
फ्रंट पेज की एक्सक्लुसिव खबर

राजनीति में कुछ भी स्थायी नही होता है जो आज सीधा दिख रहा है वही कल उल्टा नजर आता है। वर्तमान कोलारस विधायक वीरेंद्र रघुवंशी के भाजपा छोड़ कांग्रेस जॉइन करने के बाद माना जा रहा था कि अब भाजपा की तरफ से केवल महेंद्र रामसिंह यादव टिकिट के दावेदार बचे हैं। और इसीलिए महेंद्र यादव ने अपनी टीम सक्रिय कर बूथ स्तर तक लोगों के नाम की सूची तैयार कराने के लिए आठ कर्मचारी नियुक्त कर उनके नाम नम्बर नॉट करा लिए गए। लेकिन जनआशीर्वाद यात्रा कोलारस में आने के बाद माहौल में एकाएक परिवर्तन सा दिखाई देने लगा है। महेंद्र यादव के हित मे अगर कोई बात है तो वो ये की वे ज्योतिरादित्य सिंधिया के नजदीकी हैं। इसके अलावा उनके लिए नकारात्मक पहलू ढेर सारे हैं। एक तो वे पिछला चुनाव हारे हुए प्रत्याशी हैं। दूसरे यादव बन्धुओ एक बहुत बड़ा दल जिसे मचेवा दल नाम दिया गया है। खुलेआम गांव गांव जाकर महेंद्र यादव की खिलाफत कर रहा है। तीसरा इनके दांए बांए कहे जाने वाले लालाजी और बोर मशीन बाले यादव जी के कारनामो से इन्हें जनता में भारी नुकसान मिल रहा है। इन सबसे बड़ा कारण है कि इनके ही नेता के लगभग सभी समर्थक इनके जीत पर असंभावना जता चुके हैं।सुना ज रहा है कि सारे सिंधिया समर्थक महेंद्र के विरोध में सिंधिया जी शिकायत कर चुके हैं और 25 तारिख के आसपास फिर से सिंधिया जी से मिलने मिलकर महेंद्र की दावेदारी का विरोध कर सकते हैं।
दूसरी तरफ जनआशीर्वाद यात्रा में अपनी पूरी ताकत झोंक देने वाले जनप्रिय नेता रामस्वरूप रिझारी ने अपनी दावेदारी मजबूत की है। सेसई से लेकर कोलारस तक हर तरफ लोगों में रिझारी के यही नाम यात्रा के दौरान दिखाई दिया। साथ ही पूर्व विधायक देवेंद्र जैन भी इस रेस में किसी से कम नही हैं। टिकिट प्राप्त करने का उनका मैनेजमेंट किसी से छुपा नही है। इस बार भी टिकिट के प्रति पूरी तरह आशान्वित दिखाई दे रहे हैं। विपिन खेमरिया, रविन्द्र शिवहरे,सुशील रघुवंशी सहित अनेक नेता कोलारस से दावेदारी जता रहे हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि कोलारस का टिकिट वरिष्ठ नेतृत्व के गले की फांस बन गया है। क्योंकि संघठन किसी भी कीमत पर कोलारस की सीट खोना नही चाहता है। इसलिए रामस्वरूप रिझारी,सुरेंद्र शर्मा और देवेंद्र जैन के नाम पर विचार करना शुरू कर दिया। इसीलिए पार्टी कोलारस कब टिकिट को दूसरी लिस्ट में प्रकाशित करने का मन बना रही थी मगर एकाएक कई बड़े नेताओं की मजबूत दावेदारी के चलते फिलहाल कोलारस का नाम दूसरी सूची से रोके जाने की खबर निकल कर सामने रही है। क्योंकि की कोलारस सीट पर सबसे ज्यादा भितरघात होने की रिपोर्ट पार्टी के आलाकमान के पास पहुंच चुकी है।इसलिए सबसे पुनः रायशुमारी भी की जा कर किसी एक नाम पर सहमति बनाये जाने का प्रयास किया जा सकता है।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

शिवपुरी से चुनाव कौन जीतेगा?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

Bureau Report